अकबर बीरबल कहानी कहानियां

अकबर बीरबल कहानी: जब अकबर की मूंछें खींच दीं गई

सम्राट अकबर को अपनी अदालत में अपने मंत्रियों की परीक्षा लेना पसंद था। अकबर उनकी चतुराई और बुद्धि की कसौटी लेते रहते थे।

एक सुबह बहुत परेशान होकर उन्होंने अपने मंत्रियों से पूछा की आज जब मैं शाही उद्यान में टहल रहा था किसी ने मेरे गाल को पीस दिया और मेरी मूंछें खींच दीं। मुझे बताएं कि इस व्यक्ति को कैसे दंडित किया जाना चाहिए।

अकबर बीरबल कहानी

एक मंत्री चिल्लाते हुए कहते हैं की उसे पचास बार कोड़े मारना चाहिए। एक और कहा की उन्हें राज्य से निकाल दिया जाना चाहिए। एक और मंत्री चिल्लाया की उसे फांसी दी जानी चाहिए।

बीरबल अब तक चुप रहे थे। जब अकबर ने उनसे पूछा तो बीरबल ने जवाब दिया उसको गले लगाओ और चुम लो। हर कोई आश्चर्यचकित था।

जवाब में बीरबल ने कहा की केवल एक ही व्यक्ति जो इस तरह की शरारती चीज़ की हिम्मत कर सकता है, वह तुम्हारा छोटा पोता है। उसे इस स्नेही अपराध के लिए पुरस्कृत करना चाहिए।

अकबर हँसे और बीरबल की चतुराई साबित हो गयी।

Leave a Comment