बॉलीवुड मनोरंजन

अपने शुरुआती दिनों में अक्सर नशे में ही शूट करते थे संजय दत्त

संजय दत्त की लाइफ एक फिल्म की तरह ही रही है जहां, रोमांस एक्शन सब देखने को मिला है। आइए आपको बताते हैं उनके बारे में कुछ ऐसी बातें जिन्हें आप नहीं जानते होंगे।

नर्गिस और सुनील जब पैरेंट्स बनने वाले थे तब उन्होंने मैग्जीन में एड दिया था और कहा था कि लोग उन्हें नाम सुझाएं। कई नामों के बीच उन्हें संजय नाम बेहद पसंद आया।

संजय ने बताया था कि फिल्म रॉकी के दौरान संजय नशे की लत में रहते थे। जब वह शूटिंग के लिए कश्मीर जा रहे थे, तब उन्होंने अपने जूतों में ड्रग्स छुपाए थे। उन्होंने बताया था कि वह उस समय अक्सर नशे में ही शूट किया करते थे।

संजय दत्त

संजय दत्त ने 9 साल की उम्र में पिता सुनील दत्त की सिगरेट पी थी, धीरे धीरे उन्हें यह लत लग गई थी।

संजय ड्रग्स की लत से बेहद परेशान हो गए थे, एक दिन सुबह जब वह जागे तो उनके घर काम करने वाले लोग उन्हें देखकर रोने लगे जब उन्होंने इसका कारण पूछा, तो उन्होंने कहा कि बाबा आप दो दिन बाद जागे हो। इसके बाद उन्होंने अपनी ड्रग्स की लत छोड़ने के लिए अपने पिता सुनील दत्त की मदद मांगी। सुनील दत्त ने संजय को एक साल के लिए रिहैब सेंटर यूएसए में भेजा।

2013 में जब उन्होंने जेल जाने के लिए सरेंडर किया तो हर कैदी की तरह उन्हें भी काम दिया गया था, वह पेपर बैग्स बनाते थे। उन्हें दिन के 50 रुपये मिलते थे। 2016 में रिलीज के समय उनकी टोटल कमाई 30 हजार से ज्यादा हो चुकी थी, जो सारी उन्होंने जेल कैदियों पर ही खर्च कर दी थी। उनके अकाउंट में सिर्फ 450 रुपये बाकी थी, जो उन्होंने अपनी पत्नी मान्यता को दिए थे।

संजय दत्त

संजय दत्त ने फिल्म वास्तव के लिए पहला फिल्म फेयर जीता था और उसके बाद मुन्ना भाई के लिए दूसरा।

Leave a Comment