अजब गजब

मैं अच्छा आदमी हूं, दोषी नहीं, न्यूड होने के मामले पर बोले क्रिस गेल

क्रिस गेल ने फेयरफैक्स मीडिया के खिलाफ किए गए मानहानि का केस जीत लिया है। एनएसडब्ल्यू सुप्रीम कोर्ट के ज्यूरी ने पाया कि प्रकाशक रिपोर्टों को साबित करने में असफल रहा है। वेस्टइंडीज के बल्लेबाज क्रिस गेल पर आरोप था कि वह मसाज थेरेपिस्ट के सामने न्यूड हो गए थे।
जूरी ने पाया कि फेयरफैक्स – द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड, द एज और द कैनबरा टाइम्स को भी ऐसी रिपोर्ट प्रकाशित करने के लिए मोटीवेट किया गया था, कि वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ने फरवरी 2015 में खुद को महिला थेरेपिस्ट के सामने न्यूड कर दिया था।
सोमवार को 3 महिलाओं और एक पुरुष की जूरी ने दो घंटे से कम समय में निर्णय सुना दिया। कहा कि फेयरफैक्स ने रिपोर्टों में सच्चाई बयां नहीं की है।
chris gayle
गेल ने कहा, “मैं जमैका से यहां तक अपने को सही साबित करने आया हूं। आखिरकार मैं बहुत खुश हूं। गेल ने कहा। “मैं एक अच्छा आदमी हूँ। मैं दोषी नहीं हूँ।
38 वर्षीय गेल ने अदालत से कहा था कि रसेल द्वारा लगाए आरोपों से वह बहुत परेशान थे। गेल ने कहा- वह अपनी इमेज सुधारने के लिए कोर्ट आने को विवश थे।
घटना के समय गेल के टीम टीम के साथी, ड्वेन स्मिथ उपस्थित थे। स्मिथ ने जोर देकर कहा कि “ऐसा कुछ नहीं हुआ था।  गेल के मित्र व ब्रिटेन स्थित क्रिकेट कोच डोनोवन मिलर ने गुरुवार को अदालत से कहा कि फेयरफैक्स ने लेख प्रकाशित किए थे। इसके बाद गेल सार्वजनिक स्थानों पर सहमा हुआ महसूस करते थे।
गेल ने कहा वह घटना से परेशान थे। बोले- एक दिन मैं उससे मिलूंगा और बात करूंगा।

Leave a Comment