अजब गजब जीवन मंत्र

कोई पर्वतारोही फतह नहीं कर सका कैलाश पर्वत, जुड़े हैं कई रहस्य

22,000 फीट से अधिक ऊंचाई पर स्थित काले चट्टान वाला कैलाश पर्वत दुनिया की सबसे प्रशंसित और पवित्र जगहों में से एक है। कैलाश पर्वत की चढ़ाई बेहद कठिन है।

कई पर्वतारोहियों ने कैलाश पर्वत फतह करने की कोशिश की लेकिन कोई नहीं कर सका। यह आज तक आश्चर्य बना हुआ है कि 8848m की ऊंचाई पर स्थित माउंट एवरेस्ट को अब तक 4 हजार लोग फतह कर चुके हैं, जबकि उससे नीचे 6638मी की ऊंचाई पर बसे कैलाश पर्वत को कोई फतह नहीं कर सका।

यहां पर चढ़ाई करने वाले पर्वतारोहियों ने कहा है कि उन्हें चढ़ाई के वक्त अचानक मौसम में इतने परिवर्तन झेलने पड़े कि वापस लौटना पड़ा।

कैलाश पर्वत

कोई भी पर्वतारोही इस पर नहीं चढ़ सका। यह 4 धर्मों का पवित्र स्थल है। हिंदू, जैन, बौध और शामनिक बॉन इसे अपना पवित्र स्थल मानते हैं।पर्वत पर मानसरोवर झील स्थित है, जो दुनिया सबसे ऊंचाई पर स्थित ताजे पानी की झील है।

यह 4 नदियों का स्त्रोत है सतलज, ब्रह्मपुक्ष सिंधु और इस्थमस। इससे जुड़ी हुई एक झील है जिसे राक्षस झील कहा जाता है, यह खारे पानी की झील है और शांत मौसम में भी यह तूफानी रहती है।

कहा जाता है कि केवल एक व्यक्ति जिसने अपनी जिंदगी में कोई पाप नहीं किए हों, वह ही इस चोटी पर चढ़ सकता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार युधिष्ठिर सुमेरू पर्वत से होकर स्वर्ग को प्रस्थान किए, इसलिए इसका दूसरा नाम सुमेरू पर्वत भी है। कहा जाता है कि कैलाश पर्वत की चोटी पृथ्वी को स्वर्ग से जोड़ती है।

Leave a Comment