जीवन मंत्र

साईंबाबा हर रोज जलाते थे दीपक, जानिए क्या है वजह

प्रकाश करना और दीपक जलाना हमेशा ही शिरडी साईंबाबा की सबसे महत्वपूर्ण गतिविधि रही है। बाबा हमेशा द्वारकामाई में दीपक जलाते थे, उनकी इस गतिविधि पर कई बार दुकानदारों ने तेल देने से मना कर दिया था। जब शिरडी साईं बाबा को तेल नहीं मिला तो उन्होंने उसकी जगह पानी का इस्तेमाल किया। लेकिन आश्चर्य की बात है कि पानी डालने के बाद भी दीपक बहुत खूबसूरती से जल उठे।

उन्होंने कभी भक्तों को सीधे उपदेश नहीं दिए बल्कि कभी वह दीपक जलाते तो कभी लोगों की मदद करे। या फिर कभी कहानी कहकर बताते थे।

दीपक जलाने के पीछे उनका उद्देश्य था कि इससे भक्तों के बुरे कार्य नष्ट हो जाएं। बुरी आत्माएं आसपास न भटकें और भक्तों के ऊपर कृपा बरसे। अब साईं बाबा समाधी में लीन हैं तो दीपक जलाने का कार्य उनके भक्त किया करते हैं।

Leave a Comment