अजब गजब

मेघालय में है एशिया सबसे साफ सुथरा गांव

क्या आप जानते हैं एशिया का सबसे साफ गांव मेघायल ये पूर्व खासी हिल्स में स्थित है। गांव का नाम है मावलिनोंग, जिसे ‘भगवान के अपने बगीचे’ के रूप में भी जाना जाता है। इसे 2003 में एशिया का सबसे स्वच्छ गांव होने का सौभाग्य मिला।

खास बात यह है कि गांव में 100{4fd0e6c5eabc91142882f2e2bda34d4d4227c6e061cebc3cab2239223d309b85} साक्षरता है और अधिकांश ग्रामीण अंग्रेजी भाषा के साथ बातचीत करते हैं। गांव भर में बांस के डस्टबिन हैं जो भी सूखे पत्ते गिरते हैं वह डस्टबिन में जाते हैं। यहां स्मोकिंग पर प्रतिबंध है और प्लास्टिक भी बैन। लोग न सिर्फ अपने घरों की बल्कि घर के बाहर सड़क की सफाई भी करते हैं।

मेघालय के रूट पुल दुनिया में अद्वितीय हैं। पुल भारी मोटी जड़ों से घिरे हुए हैं, जो एक पुल बनाने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं जो एक समय में कई लोगों को पकड़ सकता है। खासी लोगों को जड़ों से बने ठोस पुल बनाने के लिए और धाराओं के उठाए गए किनारों पर इन पुलों को विकसित करने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इसके साथ ही मेघायल में इतने खूबसूरत सीन हैं कि आपको अपनी आंखों पर यकीन नहीं होगा।

Leave a Comment