बॉलीवुड मनोरंजन

मुस्लिम उग्रवादियों ने की थी पिता की हत्या लेकिन एंटी इस्लामिक नहीं हूं : निमृत कौर

एक्ट्रेस निमृत कौर जल्द ही एकता कपूर की वेबसीरीज द टेस्ट केस में नजर आने वाली हैं, जिसमें वह एक आर्मी ऑफिसर का किरदार निभाएंगी। आपको बता दें कि राजस्थान से ताल्लुक रखने वाली निमृत के पिता भी सेना में अधिकारी थे, लेकिन कश्मीर में मुस्लिम मिलिटेंट्स ने उनके पिता की हत्या कर दी थी। लेकिन उन्होंने कहा कि उनकी मां ने उन्हें एंटी इस्लामिक पर्यावरण से दूर रखा और उनके अंदर एक उदारबादी मन को विकसित किया। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय सेना में कोई राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए।

पिछले हफ्ते आतंकवादी हमले में जम्मू में आतंकियों ने सेना शिविर पर हमला कर दिया था। इस पर उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि राजनीति अपने क्षेत्र नहीं होनी चाहिए और भारतीय सेना में प्रवेश नहीं करना चाहिए, जिस तरह से भारतीय सेना राजनीति में प्रवेश नहीं करती। हमारे देश में एंटी इस्लामिक इन्वायरमेंट बनाना बेहद आसान है।

“क्योंकि मेरे पिताजी का जीवन मुस्लिमों के आतंकवादियों द्वारा ले लिया गया था, वहां कई घटनाएं घटीं थीं जहां लोगों ने कहा था कि ‘मुसलमान ऐसे ही हैं, हिंसा उनके धर्म में है, वे लोगों को मारते हैं’ और अन्य सभी नफरतवादी विचार लेकिन मेरी माँ ने हमेशा उनका मुंह बंद कर दिया और हमें उन लोगों से दूर कर दिया क्योंकि वह चाहते थी कि हमारे अंदर एक लिबरल माइंड हो।

एक धर्मनिरपेक्ष वातावरण के बीच सेना छावनी में बढ़ी हुईं, निमृत ने कहा, “देखिए, सिख की पहचान करना बहुत आसान है। एक सिख आदमी के पास पगड़ी और चेहरे का बाल है … जो हमारे धर्म में है। वहीं दूसरी ओर मैंने सेना छावनी में मेरे और मेरे दोस्तों के बीच कोई अंतर नहीं देखा… हम सभी को एक ही राशन, एक ही भोजन दिया जाता था, सभी एक जैसे स्थान पर रहते थेय़

“हमारे पास मंदिर-मस्जिद-गुरुद्वारा एक दूसरे के पास हैं, इनमें कोई अंतर नहीं है। कैंट के अंदर, वातावरण इतना धर्मनिरपेक्ष है कि मेरे पिता की मौत के बाद जब मेरा परिवार नोएडा में स्थानांतरित हो गया, तब तक मुझे नहीं पता था कि धार्मिक अंतर भी होता है।

Leave a Comment