लाइफस्टाइल

बरसात के मौसम में बीमारियों से बचने के लिए रामबाण है प्याज़

प्याज का इस्तेमाल खाने की साथ साथ और भी कही चीज़ो में होता है। प्याज में ऐंटीबैक्टेरियल और एंटिफंगल गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। प्याज में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं इसलिए वो इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता हैं। प्याज़ रक्त परिसंचरण में सुधार करता है। तो आइए जानते हैं कि प्याज का इस्तेमाल कितना फायदेमंद होता है।

बरसात का मौसम बड़ा सुहाना होता है, लेकिन ये अपने साथ कई बीमारियों को भी लेकर आता है। बरसात के मौसम में आप कई बीमारियों का शिकार होते हैं। बारिश में सर्दी, खांसी और बुखार का भी खतरा होता है। बरसात के मौसम में मच्छरों का काट लेना और गन्दकी के कारण डेंगू और मलेरिया होने का खतरा रहता है। मोनसून के साथ वायरल और बैक्टीरिया का संक्रमण भी बढ़ता है। इसी लिए इस मौसम में आपकी और आपके परिवार के लोगो की हेल्थ का ख्याल रखना चाहिए। मॉनसून में वायरल और बैक्टीरिया के संक्रमण से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए प्याज़ रामबाण की तरह काम करती ही।

आपको बता दें कि प्याज का पानी शरीर को एनर्जी देने के साथ मॉनसून में शरीर को वायरल बीमारियों से बचाता है। प्याज का पानी हमें ठंड से बचाता है, कफ को बाहर निकालता है, वायरल से लड़ने में मदद करता है, इम्यूनिटी को बढ़ाता है।

तो आइए आपको बताते है की प्याज़ का पानी कैसे बनाते है और उसका इस्तमाल कैसे करना है।

प्याज लें और उसको छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें। और एक कटोरे में पानी में डाल दें और 6 से 8 घंटे तक रहने दें। प्याज़ के पानी में आप थोड़ा शहद भी मिला सकते है। और शहद भी काफी फायदे मंद होता है। उसके बाद प्याज़ के पानी का दिन में दो बार 2 से 3 चम्मच सेवन करे। प्याज़ का पानी बच्चों को भी दिया जा सकता है लेकिन बच्‍चों को केवल एक ही चम्‍मच दें ज्यादा नहीं।

पढ़े: बारिश में ये चीजे खाने से बचे, नहीं तो बीमार पड़ सकते हो

Leave a Comment