रामायण

क्या आप जानते हैं रामायण में भगवान राम और सीता माता के बीच उम्र का कितना अंतर था?

रामायण एक संस्कृत महाकाव्य है। भारतीय साहित्य के दो विशाल महाकाव्यों में से एक है। रामायण की रचना महर्षि वाल्मीकि ने की थी। रामायण महाकाव्य में एक आदर्श राजा, आदर्श पिता, आदर्श पुत्र, आदर्श भाई, आदर्श पत्नी, आदर्श मित्र, आदर्श सेवक के कर्तव्यों को समझाया गया है।

लोग भगवान राम को आदर्श मानते हैं। भगवान राम और सीता माता को पति और पत्नी के श्रेष्ठ युगल के रूप में पूजते हैं। रामायण की ऐसी कई बाते है जो सायद ही आप जानते होंगे। क्या आप जानते हैं भगवान राम और सीता माता के बीच उम्र का कितना अंतर था? नहीं, तो चलिए जानते है के भगवान राम और सीता माता के बीच उम्र का कितना अंतर था।

भगवान राम और सीता माता की उम्र का उल्लेख रामायण के एक दोहा में किया गया है। आज लोग शादी से पहले यह जरूर जानते है की लड़के और लड़की दोनों की उम्र में का कितना अंतर है। भगवान राम और सीता माता के बीच के उम्र के अंतर को जानकर हैरान आप रह जाएंगे।

“वर्ष अठारह की सिया,

सत्ताइस के राम।

कीन्हों मन अभिलाष तब,

करनो है सुर काम॥”

इस दोहा में कहा जाता है कि भगवान राम सीता माता से 9 वर्ष बड़े थे, यह दोहा उस समय के दौरान का है जब भगवान राम सीता माता से विवाह करते हैं। भगवान राम और सीता माता का जब विवाह हुआ था तब सीता माता की उम्र18 वर्ष थी और भगवान राम की उम्र 27 वर्ष की थी। भगवान राम और सीता माता को एक आदर्श पति और पत्नी माना जाता है।

Leave a Comment