बिज़नेस

RBI ने रेपो रेट कम किया, लोन लेना अब सस्ता होगा

धीमी पड़ रही अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए आरबीआई ने एक बार फिर रेपो रेट में बदलाव किये है। रिज़र्व बैंक ने लगातार चौथी बार रेपो दर में कटौती की है। बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक में रेपो दर को 35 आधार अंकों तक कम करने का निर्णय लिया गया है। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में हुई मौद्रिक नीति समिति की बैठक में निर्णय लिया गया है।

अब रेपो दर 5.75 फीसदी से घटकर 5.40 फीसदी पर आ गई है। आरबीआई के इस फैसले के साथ ही होम लोन और ऑटो लोन सस्ता हो जाएगा। रेपो रेट वह दर है जिस पर बैंक अपने कर्ज की जरूरतें पूरी करने के लिए रिज़र्व बैंक से पैसा लोन पर लेते हैं।रिवर्स रेपो दर भी आरबीआई द्वारा कम कर दी गई है, जो अब गिरकर 5.15 प्रतिशत हो गई है। रिवर्स रेपो रेट ब्याज है जिस पर बैंकों को आरबीआई में जमा अपने पैसे पर मिलता है।

रिज़र्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए जीडीपी वृद्धि को घटाकर 6.9 प्रतिशत करने का अनुमान लगाया है। जिसका मतलब है कि देश की अर्थव्यवस्था धीमी हो रही है, यह बैंक भी मानता है। अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए आरबीआई एक बार फिर यानि लगातार चौथी बार रेपो रेट में बदलाव किया है।

मौद्रिक नीति समिति के छह सदस्य हैं। और पता चला कि समिति के एक सदस्य ने रेपो दर में कटौती करने के लिए सहमत नहीं थे। हालांकि, पांच सदस्यों ने रेपो दर को कम करने पर सहमति व्यक्त की। रिज़र्व बैंक ने लगातार चौथी बार रेपो रेट में कटौती की है। इससे पहले अप्रैल और जून में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट को कम किया था।

पढ़े: 9 अगस्त तक सस्ता सोना खरीदने का सबसे अच्छा मौका, सरकारी योजना

Leave a Comment