रामायण

रामायण में शबरी की अद्धभुत कहानी

जब भगवान राम और लक्ष्मण ऋषमयमुख वन से गुजर रहे थे। यह तब था जब वे शबरी से मिले, जो निशाध शिकारी के निचले जाति के थे। शबरी भगवान राम के आने के लिए अपनी सारी ज़िंदगी का इंतजार कर रही थी।

शबरी ने भगवान राम के लिए सबसे अच्छे बेरीज को हर एक दिन चुन कर पसंद किया था इस उम्मीद के साथ की भगवान राम आज आ जायेंगे।

एक दिन भगवान राम शबरी के पास आए। शबरी भगवान राम के लिए प्यार की चिंता में, वह यह सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक बेरी का स्वाद अच्छा हो इसलिए उन्होंने सभी बेरी को खुद चख लिया। जो बेरी मीठी थी उसको भगवान राम के लिए रखा और खट्टे बेरी को फेंक दिया।

शबरी के इस प्रेम से खुश हो कर भगवान राम ने उन सभी बेरी को स्वीकार कर लिया।

एक प्रचलित कहानी के अनुसार शबरी के सभी खट्टे बेरीज जिन्हें फेंका गया था वह वानर सेना के वानर्स बन गए।

Leave a Comment