कहानियां

जिंदगी की प्रॉब्लम को आसान बना देगी महात्मा बुद्ध की यह कहानी

अगर आप किसी बात से परेशान हैं कि आपकी लाइफ में सबकुछ आपके मुताबिक क्यों नहीं हो रहा है तो आपको महात्मा बुद्ध यह कहानी जरूर पढ़नी चाहिए।

एक लड़का बेहद गरीब था, जो कहीं न कहीं से कुछ खाने के लिए इकट्ठा करता था। एक दिन उसने देखा कि उसका खाना चूहा चुरा रहा था। लड़के ने उस चूहे को पकड़ा और कहा- कि तू मेरा खाना क्यों चुरा रहा है, जबकि मैं इतना गरीब हूं। अमीर लोगों का खाना क्यों नहीं चुराता, जिन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इस पर चूहे ने कहा कि तुम कितनी भी कोशिश कर लो तुम्हारी किस्मत जो लिखा है वही मिलेगा। लड़के ने कहा ऐसे कैसे हो सकता है, तो चूहे ने कहा अगर तू जानना चाहता है कि तेरी किस्मत में क्या लिखा है इसे जानने के लिए भगवान बुद्ध के पास जाना होगा।

लड़का भगवान बुद्ध से मिलने निकल पड़ता है, रास्ते में उसे एक परिवार मिलता है। परिवार को पता चला कि वह भगवान बुद्ध से मिलने जा रहा है तो उन्होंने कहा- भगवान बुद्ध से पूछना कि हमारी 16 साल की लड़की है जो बोल नहीं सकती, उसके बारे में पूछना। लड़के ने कहा- जरूर पूछूंगा।

महात्मा बुद्ध

इसके बाद जब वह जा रहा था तो बहुत बर्फ के पहाड़ मिले, उनके बीच में एक जादूगर तपस्या कर रहा था। जादूगर ने पूछा कहां जा रहे हो- इस पर लड़के जवाब दिया। तो जादूगर ने कहा- भगवान से पूछना कि मैं 1 हजार सालों से तपस्या कर रहा हूं कि कब तक स्वर्ग में जाऊंगा। लड़के ने हामी भर दी। जादूगर ने उसे अपनी जादू की छड़ी से बर्फ के पहाड़ पार करवा दिए। इसके बाद उसे नदी में एक बड़ा से कछुआ मिला। कछुए ने भी लड़के से एक सवाल पूछा- कहा भगवान से पूछना कि मैं उड़ना चाहता हूं ड्रैगन बनना चाहता हूं, कैसे बन सकता हूं।

इसके बाद लड़का भगवान बुद्ध के पास पहुंचा, लेकिन भगवान ने कहा कि उनसे वह सिर्फ 3 सवाल कर सकता है। इस पर लड़का सोच में पड़ गया कि एक कौन सा एक सवाल छोड़ दे।

लड़के ने बहुत सोचने के बाद अपना सवाल छोड़कर बाकी तीन सवाल पूछे।

भगवान बुद्ध ने कहा-

कछुए को ड्रैगन की तरह उड़ने के लिए अपना कवच छोड़ना होगा।

जादूगर को स्वर्ग पाने के लिए वह छड़ी त्यागनी होगी।

और लड़की को अपना पार्टनर मिलने पर वह बोल सकेगी।

महात्मा बुद्ध

जवाब मिलने के बाद वह लड़का वापस चला गया। रास्ते में उसने सबसे पहले कछुए से कहा कि अगर वह उड़ना चाहता है तो अपने कवच से बाहर आए।

फिर जादूगर ने अपनी छड़ी उस लड़के को सौंप दी और जादूगर को मोक्ष मिल गया।

लड़के ने उस जादू की छड़ी से उस लड़की आवाज वापस दे दी और इसके बाद उस लड़की ने इस गरीब लड़के को अपना हमसफर चुन लिया, जिससे लड़के को एक खूबसूरत पत्नी और दौलत भी मिल गई।

इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि आपको जिंदगी में अपने से पहले दूसरों के बारे में भी सोचना चाहिए और आपको कुछ हासिल करने के लिए अपने कवच से बाहर आना पड़ेगा।

Leave a Comment