समाचार

वडोदरा में बारिश ने तोडा 1956 का रेकॉर्ड, एक ही दिन में मौसम की 50% बारिश

पिछले 24 घंटों में वडोदरा में 21 इंच बारिश हुई। आपको जानकर झटका लगेगा वडोदरा में बारिश ने 1956 का रेकॉर्ड तोड़ दिया है यानि 63 साल का रेकॉर्ड तोडा। पिछले साल 1956 में 11 इंच बारिश हुई थी। वडोदरा के ज्यादातर इलाकों में पानी भर जाने से जीवनअस्त-व्यस्त हो गया है। और बाढ़ग्रस्त इलाकों में पुलिस और NDRF के जवान तैनात किये गए है जो बचाव कार्य में लगे है।

भारी बारिश के कारण वडोदरा बेहाल
वडोदरा में 24 घंटो में 21 इंच बारिश हुई है। जिसके कारण शहर में जल प्रलय जैसी स्थिति है। बारिश के कारण अब तक 9 लोगो की मौत हो चुकी है। भारी बारिश की वजह से आजवा सरोवर के गेटों को कल रात खोलने के लिए मजबूर होना पड़ा था। अब वो पानी विश्वामित्र में आ रहा है और विश्वामित्र की सपाटी में हो रही वृद्धि वडोदरा शहर में बाढ़ की स्थिति पैदा कर रही है। जिससे स्थिति काफी ख़राब हो गई है। बाढ़ग्रस्त इलाकों में पुलिस और NDRF के जवान तैनात किये गए है जो बचाव कार्य में लगे है। और 5000 लोगो को सुरक्षित इलाकों में पहुंचाया है।

मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी
मौसम विभाग ने बारिश की सम्भावना जताई है। मौसम विभाग ने कहा, “वडोदरा में अगले दो दिनों में सामान्य बारिश होगी।” मौसम विभाग ने भी राज्य में 4 दिनों तक भरी बारिश होने की संभावना जताई है। कच्छ के लोगो के लिए खुशखबरी है। मौसम विभाग ने कहा कि कच्छ के इलाकों में भी सामान्य बारिश होगी।

राज्य के अन्य जिल्लो में थी भारी बारिश का अनुमान
गुजरात में निम्न दबाव ऊपरी वायु चक्रवाती परिसंचरण में बदल गया है। राज्य में अगले कुछ दिनों तक बारिश होने का अनुमान है। दमन, दादरा नगर हवेली में भारी बारिश का अनुमान है। साबरकांठा, बनासकांठा और अरावली में भारी बारिश का अनुमान है। पाटन, मेहसाणा और आणंद में भारी बारिश का अनुमान है। अब तक राज्य में 46 प्रतिशत वर्षा दर्ज की गई है।

Leave a Comment