अकबर बीरबल कहानी कहानियां

बीरबल की लालच ने अकबर को हैरान किया

राजा अकबर का दरबार चल रहा था। दरबार में दरबारी और बीरबल भी मौजूद थे। अचानक राजा के मन में एक ख़याल आया। और हर बार की तरह राजा अकबर ने बीरबल से एक प्रश्न पुछा। अकबर ने बीरबल से पूछा की ” बीरबल में तुम्हें न्याय और सोने के सिक्के में से एक को चुनने को बोलू तो तुम क्या चुनोगें।

तभी बीरबल ने तुरंत राजा अकबर को जवाब दिया की हे ” राजा अकबर में बिना संदेह सोने के सिक्के को चुनुंगा। बीरबल का जवाब सुनकर राजा अकबर सहित हर कोई हेरान रह गया। और उन्होंने सोचा था कि इस बार बीरबल एक बार के लिए लड़खड़ा जायेगा। राजा अकबर ने कहा की बीरबल मैं तुम से बहुत ही निराश हूँ। बीरबल तुम न्याय जैसी मूल्यवान वस्तु के स्थान पर सोने के सिक्के जैसी मामूली मूल्य की वस्तु को क्यों चुना?

पढ़े : अकबर बीरबल की मजेदार कहानी

बीरबल मुस्कराहट के साथ उत्तर दिया, राजा अकबर आपके दरबार में न्याय की कोई कमी नहीं है क्योंकि आपके राज्य में हर जगह न्याय है। राजा मुझे कुछ पूछने की जरूरत नहीं महसूस हुई जो मेरे पास भरमार है। लेकिन राजा अकबर मेरे पास निश्चित रूप से पैसो की कमी है, और एक सोने का सिक्का उसके लिए सही रहेगा।

अकबर का यह जवाब सुनकर राजा अकबर आश्चर्यचकित हो गए और पूरा दरबार भी। और राजा अकबर के चेहरे पर बड़ी मुस्कान भी थी। राजा अकबर बीरबल के उत्तर से बहुत ही खुश हुए। और राजा अकबर ने बीरबल को 100 सोने के सिक्कों का पुरस्कार भी दिया।

पढ़े : रामायण की कुछ प्रसिद्ध कहानियाँ

Leave a Comment